Viral

Happy Birthday Amitabh Bachchan You Should Know These Things About Big B

By Rohit Varma
  • Oct 11, 2016
  • 1236 views

आप नाम गिनते गिनते थक जाएंगे..गितनी खत्म हो जाएगी लेकिन ऐसा कोई किरदार नहीं मिलेगा जिन्हें अमिताभ ने पर्दे पर सिर्फ हो बल्कि उन्होंने हर किरदार को पर्दे पर जिया है. इसीलिए तो उन्हें कहा जाता है सदी का महानायक. अमिताभ की जिंदगी कई रहस्यों....कई विवादों, कई रंगो से भरी हुई है. अमिताभ के जन्मदिन के मौके पर हम आपके लिए अमिताभ से जुड़ी 25 ऐसी कहानियां जो अमिताभ को अमिताभ बनाती हैं. ये कहानियां आपको बताएंगे कि कैसे एक आम सा लड़का सदी का महानायक बन गया...तो आइए शुरू करते हैं अमिताभ की 25 कहानियां


1. अमिताभ बच्चन का जन्म 11 अक्टूबर 1942 को इलाहाबाद मे हुआ था. अमिताभ के पिता हरिवंश राय बच्चन अमिताभ का नाम इंकलाब रखना चाहते थे. लेकिन उनके पिता के दोस्त और मशहूर कवि सुमित्रानंदन पंत के कहने पर उन्होंने अपने बेटे का नाम अमिताभ रखा.

 

2. अमिताभ के सरनेम की कहानी भी कम दिलचस्प नहीं है... अमिताभ का सरनेम श्रीवास्तव हुआ करता था. लेकिन उनके पिता ने हरिवंश राय ने अपना पेन नेम बच्चन चुना था, इसलिए अमिताभ ने भी अपने नाम के आगे बच्चन लगा लिया. इस तरह से अमिताभ श्रीवास्तव से वे अमिताभ बच्चन बन गए..

 

3. आपको ये जानकर हैरानी होगी कि अमिताभ कभी 2 रुपये के लिए भी तरसना पड़ा था.

 

4. अमिताभ एक इंजिनीयर बनना चाहते थे. उनकी ये ख्वाहिश थी कि वे एक दिन भारतीय वायु सेना में काम करें और देश की सेवा करें...लेकिन उनका ये सपना पूरा नहीं हुआ...अमिताभ पहले कोलकाता में काम करते थे लेकिन फिर बाद में वो अपनी किस्मत आजमाने मुंबई आ गए. अमिताभ का कहना है कि उन्होंने ठान लिया था कि वो किसी कीमत पर घर वापस नहीं जाएंगे.

 

5. यह बात भी दिलचस्प है कि अमिताभ एक बार ऑल इंडिया रेडियो में नौकरी के लिए गए थे. लेकिन उन्हें वहां से खाली हाथ लौटना पड़ा था, उस वक्त उन्हें ये कहा गया कि उनकी आवाज रेडियो के लिए फिट नहीं है..जबकि आज इसी आवाज के करोड़ों दीवाने हैं...अमिताभ की बेरीटोन वॉयस उनकी शख्सियत का बेहत खास हिस्सा है.

 

6. अमिताभ को उनकी आवाज की वजह से ऑल इंडिया रेडियो में भले ही रिजेक्ट कर दिया था लेकिन अमिताभ बच्चन ने फिल्मों में अपनी शुरुआत बतौर वोकल नैरेटर के रुप में ही की थी.1969 में निर्देशक मृणाल सेन की फिल्म में अमिताभ ने अपनी आवाज दी थी और इसी फिल्म से अमिताभ ने हिंदी फिल्मों में एंट्री की थी... 1977 में सत्यजीत रे की फिल्म शतरंज के खिलाड़ी में भी अमिताभ ने आवाज दी थी.

 

7. अमिताभ आज फिल्मों के लिए करोड़ों लेते हैं...लेकिन आपको ये जानकर हैरानी होगी कि अमिताभ की पहली कमाई मात्र 300 रुपए थी.

 

8. अपने जमाने के मशहूर अभिनेता रहे महमूद ने अमिताभ की शुरु के दिनों में काफी मदद की थी. जब अमिताभ अपने करियर के शुरुआत में थे और संघर्ष कर रहे थे तब महमूद ने अमिताभ को अपने घर में रहने की इजाजत दी थी. महमूद ने अमिताभ को अपनी फिल्म 'बॉम्बे टू गोवा' का हीरो भी बनाया ...और जब अमिताभ बहुत कोशिश करके भी डांस नहीं कर पा रहे थे तो सुनिए कैसे महमूद ने अमिताभ को नचाया. फिल्म 'बॉम्बे टू गोवा' में महमूद शत्रुघ्न सिन्हा को विलेन लेना चाहते थे लेकिन शत्रुघ्न ने विलेन के रोल करने बंद कर दिए थे और ये फिल्म साइन करने के बाद उन्होंने छोड़ दी...लेकिन फिर अमिताभ ने उन्हें ये फिल्म करने के लिए राजी किया.

 

9. फिल्मों में अमिताभ ने नकली आंसू तो कई बार बहाए हैं लेकिन आपको पता है एक फिल्म की शूटिंग के दौरान उनकी आंखों से असली आंसू छलके थे..ये फिल्म थी 'बॉम्बे टू गोवा' और इस फिल्म के इस फाइट सीन ने अमिताभ को रुला दिया था. जी नहीं ऐसा नहीं है कि अमिताभ को इस सीन के दौरान चोट लग गई थी बल्कि हुआ ये था कि अमिताभ की वजह से शत्रुघ्न सिन्हा को चोट लग गई थी और उनके मुंह से खून निकलने लगा था..और अपने दोस्त के मुंह से खून निकलता देख ही अमिताभ के आंसू निकल गए थे.

 

10. बतौर अभिनेता अमिताभ की पहली फिल्म 'सात हिन्दुस्तानी' थी. 1969 में आई इस फिल्म के निर्देशक ख्वाजा अहमद अब्बास थे. फिल्म सात हिंदुस्तानी अमिताभ की इकलौती ब्लैक एंड वाइट फिल्म थी.

 

11. फिल्म जंजीर से ही अमिताभ को पहचान मिली. लेकिन बता दें कि जंजीर से पहले अमिताभ की लगातार 12 फिल्में फ्लॉप हुई थी.
 

12. जंजीर के बाद अमिताभ कामयाबी की सीढ़ियां चढ़ते गए और उस दौर के सुपरस्टार राजेश खन्ना की कुर्सी हिलने लगी...अमिताभ ने शुरुआत दौर में राजेश खन्ना के साथ फिल्म आनंद में काम किया था...तब राजेश खन्ना बहुत बड़े स्टार हुआ करते थे. लेकिन फिर कुछ साल बाद इन दोनों ने फिल्म नमक हराम में साथ किया ..इस वक्त तक दौर बदल चुका था... फिल्म नमक हराम का जिक्र करते हुए राजेश खन्ना ने इस इंटरव्यू में कहा- जब मैंने लिबर्टी सिनेमा में फिल्म नमक हराम का ट्रायल शो देखा...तो मुझे पता लग गया था कि मेरा दौर खत्म हो गया है...मैंने ऋषिदा से कहा था कि ये रहा कल का सुपरस्टार.
 

13. विजय दीनानाथ चौहान- ये नाम अमिताभ की पहचान बन गया..विजय का मतलब ही अमिताभ हो गया था...यूं तो अमिताभ ने पर्दे पर कई किरदार निभाए. जिनके अलग-अलग नाम हैं. लेकिन अमिताभ ने विजय नाम का किरदार पर्दे पर कुल 20 बार निभाया.
 

14. अमिताभ बच्चन ने लगभग 12 फिल्मों में डबल रोल किया है. इतना ही नहीं एक फिल्म निर्देशक एस. रामानाथन की 'महान' में उन्होंने तिहरी भूमिका यानी ट्रिपल रोल किया है. अमिताभ एक ही फिल्म में ट्रिपल रोल करने वाले एकमात्र कलाकार हैं.

 

15. अमिताभ बच्चन और उनकी पत्नी जया भादुड़ी की पहली मुलाकात पुणे के फिल्म एंड टेलीविज़न इंस्टीट्यूट में हुई थी. दूसरी बार वे ऋषिकेश मुखर्जी की फिल्म'गुड्डी' के सेट पर मिले. कहा जाता है ऋषिकेश मुखर्जी ने 'गुड्डी' में नायक के तौर पर पहले न सिर्फ अमिताभ बच्चन को चुना था, बल्कि उनके साथ कई सीन भी शूट कर लिए गए थे, लेकिन बाद में अमिताभ को यह कहकर फिल्म से हटा दिया गया, कि वह इस भूमिका में 'सूट' नहीं करते.इसके बाद फिल्म में नायक का किरदार समित बांजा को सौंपा गया.

 

16. अमिताभ फिल्म गुड्डी से भले बाहर हो गए लेकिन जया भादुड़ी के दिल में बने रहे...जब जया राजेश खन्ना के साथ फिल्म बावर्चीकी शूटिंग कर रहे थे तो अमिताभ वहां उनसे मिलने आया करते थे.. rediff.comमें छपे एक लेख के मुताबिक एक दिन सेट्स पर अमिताभ को देखकर राजेश खन्ना ने जया भादुड़ी से कहा था, 'क्यों तुम इस आदमी के साथ घूमती हो..तुम्हारा कुछ नहीं होगा..ये आदमी कभी हीरो नहीं बन सकता...ये मेरा चैलेंज है.' पत्रकार अली पीटर जॉन के मुताबिक साल 1972 में फिल्म बावर्ची की शूटिंग के दौरान ही एक दिन जया भादुड़ी को राजेश खन्ना के इस बर्ताव से बेहद गुस्सा आ गया . अली पीटर जॉन के मुताबिक उनके सामने ही जया भादुड़ी ने एक बार राजेश खन्ना से कहा था, 'एक दिन देखना ये कहां होगा और तुम कहां होगे.'

 

17. आज अमिताभ के साथ काम करना हर छोटी बड़ी हीरोइन के लिए खुशनसीबी की बात होती है..लेकिन एक दौर ऐसा था जब अमिताभ को फिल्म जंजीर के लिए हीरोइन नहीं मिल रही थी..ऐसे में जया भादुड़ी अमिताभ की हीरोइन बनने के लिए राजी हुई और फिर दुनिया जानती है कि जंजीर के बाद अमिताभ की जिंदगी कैसे बदल गई. फिल्म जंजीर का कामयाबी के बाद अमिताभ और जया इस फिल्म की कामयाबी का जश्न मनाने के लिए लंदन जाना चाहते थे लेकिन अमिताभ के माता-पिता को इस बात पर ऐतराज था..उन्होंने अमिताभ से कहा कि अगर जया को लंदन लेकर जाना है तो शाद करके लेकर जाओ..बस फिर क्या था..अमिताभ ने झटपट जया से शादी कर ली.

 

18. जया से शादी के चार बाद अमिताभ की जिंदगी में रेखा की एंट्री हुई...इन दोनों की मुहब्बत के चर्चे हर गली कूचे तक में होने लगे लेकिन इन दोनों ने कभी ये नहीं माना कि इन खबरों में कोई सच्चाई थी....रेखा और अमिताभ के रिश्ते की खबर जब जया बच्चन को मिली तो उनके घर खूब हंगामा हुआ..जया ने रेखा को मिलने के लिए भी बुलाया.

 

19. अमिताभ जया और रेखा का फिल्म सिलसिला में काम करना हैरान करने वाला था...यश चोपड़ा ने इस फिल्म के लिए परवीन बाबी और स्मिता पाटिल को साइन किया था लेकिन फिर अमिताभ ने जया और रेखा को इस फिल्म में काम करने के लिए मनाया....सिलसिला के बाद रेखा और अमिताभ की मुहब्बत का सिलसिला भी थम गया...कहते हैं जब फिल्म कुली के दौरान अमिताभ को चोट लगी और पूरा देश उनकी सलामती की दुआ मांग रहा था तब रेखा को उनसे मिलने तक नहीं दिया गया था.

 

20. फिल्म सिलसिला वो इकलौती फिल्म है जिसमें अमिताभ ने शशि कपूर के छोटे भाई का रोल किया है..बाकी सारी फिल्मों में अमिताभ शशि कपूर के बड़े भाई बने हैं.

 

21. अमिताभ ने एक्टिंग के साथ साथ राजनीति में भी हाथ आजमाया था. 1984 में भूतपूर्व प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी की हत्या के बाद अमिताभ बच्चन इंदिरा के बेटे और अपने मित्र राजीव गांधी के कहने पर राजनीति में शामिल हुए थे. उन्होंने इलाहाबाद की लोकसभा सीट से चुनाव लड़ा और जीता ...हालांकि बोफोर्स विवाद में नाम आने के बाद में अमिताभ ने राजनीति छोड़ दी.

 

22. राजनीति छोड़ने के बाद 1995 में अमिताभ बच्चन ने एबीसीएल नाम की कंपनी की शुरुआत की थी. . लेकिन कुछ ही सालों बाद 1999 तक इस कंपनी पर कर्ज का बोझ काफी बढ़ गया और अमिताभ को अपने घर प्रतीक्षा को भी गिरवी रखना पड़ा. इसी दौरान अमिताभ बच्चन काम के लिए यश चोपड़ा के पास गए और उनसे मदद मांगी. यश चोपड़ा ने इसके बाद अमिताभ को अपनी फिल्म मोहब्बतें में रोल दिया.

 

23. इसके बाद अमिताभ ने टीवी पर कौन बनेगा करोड़पति भी होस्ट किया और इस शो ने तो टेलीविजन का इतिहास ही बदलकर रख दिया...इसके बाद अमिताभ की एक नई पारी शुरु हुई जो पहले से भी ज्यादा दमदार और कामयाब रही.

 

24.अमिताभ बच्चन के जीवन में एक ऐसा वक्त भी आया था, जब मीडिया ने इस महानायक को बैन कर दिया था. हुआ यूं था कि स्टारडस्ट मैगजीन ने अमिताभ के निजी जीवन से जुड़ी कुछ चीजों को छाप दिया था जिसके बाद तो अमिताभ का पारा सातवें आसमान पर पहुंच गया और खबरें थी कि अमिताभ मैग्जीन को बंद करवाने की जदोजहद में लग गए थे. अमिताभ के इस बर्ताव को देखते हुए मैग्जीन्स के एक समूह ने अमिताभ को बैन करने का फैसला लिया. यह सिलसिला लगभग 17 सालों तक चला लेकिन फिर बाद में सब ठीक ठाक हो गया.

 

25. अमिताभ बच्चन का सिर्फ 25 फीसदी लीवर ही काम करता है... एक प्रेस कॉन्फ्रेंस के दौरान अमिताभ ने बताया था कि एक बार जब उनकी तबीयत बिगड़ी थी तो उन्हें 200 बोतल खून चढ़ाया गया था जिसमें किसी एक यूनिट ब्लड में हेपप्टाइटस बी का वायरस मौजूद था जिसकी वजह से बिग बी भी उस वायरस से infected हो गए और उनके लीवर का 75% हिस्सा खराब हो गया. लेकिन 25 फीसदी लीवर के साथ भी ये शख्स जिस ऊंचाई पर पहुंचा वहां किसी के लिए पहुंचना अब नामुमकिन लगता है.

 

आज भी अमिताभ फिल्मों में अपनी शानदार अदायगी से इतिहास लिख रहे हैं..हाल ही में आई फिल्म पिंक मे उनके किरादर को काफी पसंद किया गया..उम्मीद है अमिताभ इसी तरह सालों साल हमारा मनोरंजन करते रहेंगे.हमारी तरफ से अमिताभ को एक बार फिर से हैप्पी बर्थडे.

related post