Finance

Ameer Banne Ke Asaan Tareeke, Inhe Apnane Se Fayda Hoga

By Avinash Kumar Mishra
  • Aug 22, 2015
  • 1532 views

अमीर बनने के लिए जरूरी नहीं है कि आपकी सैलरी बहुत ज्यादा हो या फिर आपका बिजनेस हमेशा मुनाफे में हो। कम सैलरी और थोड़े मुनाफे में भी बचत करके अमीर बना जा सकता है। इसके लिए जरूरी है कि इन्वेस्टमेंट सही तरीके और सही जगह हो। पैसे होने के बावजूद हम यह तय नहीं कर पाते कि इन्हें कहां और कैसे इन्‍वेस्‍टमेंट किया जाए। यकीनन अगर सही दिशा मिले तो शुरुआत से छोटी सेविंग करके भी बड़ी पूंजी जुटाई जा सकती है। मनीभास्कर आपको बता रहा है, इन्‍वेस्‍टमेंट के छोटे और आसान तरीके, जिनके जरिए आप बचत तो करेंगे ही, अमीर भी होंगे।

 

पहले समझें फिर करें इन्‍वेस्‍टमेंट

 

इन्‍वेस्‍टमेंट का विकल्प हमेशा अपनी जरूरत के मुताबिक चुनें। मंथली खर्चे, उम्र, सैलरी, रिस्‍क प्रोफाइल और इन्वेस्टमेंट के प्लान जानने-समझने के बाद ही इन्‍वेस्‍टमेंट करें। सबसे जरूरी है कि आप कितने रिटर्न की उम्मीद कर रहे हैं। यह समझने के बाद तय करें कि इन्‍वेस्‍टमेंट शॉर्ट टर्म में करना है या लॉन्ग टर्म में।

 

कितनी हो सेविंग

 

 

अगर आप हर महीने 3200 रुपए की सेविंग करते हैं और इस राशि पर आपको 10 फीसदी की दर से रिटर्न मिलता है तो30 साल के बाद आपके पास लगभग 72,94,000 रुपए हो जाएंगे।

 

अलग सेविंग अकाउंट

 

सेविंग की राशि को सैलरी अकाउंट में रखने के बजाए दूसरे सेविंग अकाउंट में रखें। उस पैसे को अलग-अलग जगह निवेश करें। पोस्ट ऑफिस और बैंकों की विभिन्न सेविंग स्कीम इसका सबसे आसान और सेफ विकल्प है। इसके साथ ही स्‍टॉक मार्केट, म्युचुअल फंड, पीपीएफ, इन्श्योरेंस और एलआईसी अच्छे रिटर्न देने वाले विकल्प हैं।

 

स्‍टॉक मार्केट

 

 

स्‍टॉक में इन्‍वेस्‍टमेंट हाई रिस्क और हाई रिटर्न वाला ऑप्‍शन है। हालांकि, स्‍टॉक बाजार में कई कंपनियां ऐसी हैं, जो इन्‍वेस्‍टमेंट के लिए सुरक्षित मानी जाती हैं। जैसे बैंकिंग, पावर, आईटी, ऑटो सेक्टर आदि। बैंकिंग में एसबीआई,एचडीएफसी, आईसीआईसीआई, आईडीबीआई आदि के पुराने रिकॉर्ड को देखते हुए भरोसेमंद स्‍टॉक्‍स में गिने जाते हैं। पावर सेक्टर में एनटीपीसी, आईटी में इंफोसिस, विप्रो, टीसीएस, मेटल में हिंडाल्‍को, टाटा स्टील, टिस्को, ऑटो सेक्टर में मारुति, टैक्सटाइल में रिलायंस इंडस्ट्रीज आदि बेहतर विकल्प माने जाते हैं।

 

गोल्ड में इन्‍वेस्‍टमेंट

 

गोल्ड, सिल्वर आदि इन्‍वेस्‍टमेंट के हिसाब से बेहतर साबित होते आए हैं। हालांकि, कुछ समय से इसमें अच्छा रिटर्न नहीं मिल रहा। लेकिन, मार्केट एक्‍सपर्ट्स लॉग टर्म के हिसाब से इसे अच्छा ऑप्शन मानते हैं। इसमें अपनी बचत का 15 से 25% ही इन्‍वेस्‍टमेंट करें तो ज्यादा बेहतर रहेगा।

 

म्युचुअल फंड

 

यह एक सिस्टमेटिक इन्वेस्टमेंट ऑप्‍शन है। इसमें इन्वेस्टर पैसा डायरेक्ट न लगा कर फंड मैनेजर के माध्यम से लगाता है। इसमें आप हर महीने अपनी सेविंग के हिसाब से धन लगा सकते हैं। हर साल 12 से 15% तक रिटर्न मिल जाता है। इसमें भी थोड़ा रिस्क है, क्योंकि यह भी स्‍टॉक मार्केट पर निर्भर होता है।

 

आरडी और एफडी

 

आरडी अकाउंट में भी इन्‍वेस्‍टमेंट किया जा सकता है। रेकरिंग डिपॉजिट (आरडी) में भी अच्छा रिटर्न मिलता है। इसके अलावा फिक्स डिपॉजिट (एफडी) का भी ऑप्‍शन बेहतर है। लेकिन, सारा पैसा एफडी में न लगाएं। क्योंकि, अचानक जरूरत पड़ने पर यदि आप एफडी तोड़ते हैं, तो आपको कम ब्याज मिलता है। कभी-कभी बैंक पेनल्टी भी लगा देते हैं।

 

पीपीएफ

 

आप वेतनभोगी हों या बिजनेसमैन। अपनी सेविंग का करीब 25% लॉन्ग टर्म में इन्‍वेस्‍टमेंट करें। लंबी अवधि में इन्‍वेस्‍टमेंट पब्लिक प्रोविडेंट फंड (पीपीएफ), प्रोविडेंट फंड (पीएफ) और लाइफ इंश्योरेंस अच्छा है। पीपीएफ और पीएफ योजनाओं में मौजूदा समय में 8.75% सालाना रिटर्न मिल रहा है।

 

एलआईसी

 

 

एलआईसी में कई स्कीम हैं। इनमें बीमारी, एक्सीडेंट, लोन सुविधा कवर होने के साथ-साथ मैच्‍योरिटी में मोटी राशि मिल जाती है। एलआईसी में 5% से 7% रिटर्न मिलता है। इससे आप खुद और फैमिली सुरक्षित रहती है। फैमिली पर दबाव नहीं पड़ता। बच्चों की एजुकेशन, मैरिज जैसे काम होने पर धनराशि मिलती रहती है।

 

प्रॉपर्टी में इन्‍वेस्‍टमेंट

 

रियल एस्टेट अच्छा विकल्प है, लेकिन इसमें इन्‍वेस्‍टमेंट करने से पहले वर्तमान हालात देख लेने चाहिए। कोशिश करें कि बहुत महंगी प्रॉपर्टी न हो। क्योंकि, कभी-कभी मार्केट में गिरावट से ज्यादा नुकसान की संभावना रहती है। इसके अलावा, अगर आपने इक्विटी में रुपए लगा रखे हैं और 2-3 साल में वह अच्छा रिटर्न देते हैं, तो उन रुपयों को रियल एस्टेट में शिफ्ट कर देना भी समझदारी वाला निर्णय हो सकता है।

 

 

related post